समर्थक

रविवार, 12 अगस्त 2012

क्या मैंने सही किया ?[ I HAVE DONE RIGHT OR WRONG ]


क्या मैंने सही किया ?
इस ब्लॉग पर पहली पोस्ट प्रस्तुत करते हुए मुझे असीम आनंद का  अनुभव हो रहा है  .मैं  साझा  कर  रही  हूँ अपना अनुभव  .यह पोस्ट देंखें -[see and read this post and give your opinion ]

टिप्पणी  है या धमकी -
संभल जा ओ सनकी !


मेरी पिछली एक पोस्ट [बाबा भाग न जाना  (नवभारत टाइम्स पर )]पर आई एक टिप्पणी ने इस पोस्ट को लिखने के लिए मजबूर कर दिया . .एक  महिला  ब्लोगर  की पोस्ट पर ऐसी टिप्पणी करना शर्मनाक तो  है ही आपराधिक गतिविधि भी  है.  टिप्पणी के रूप में ऐसी धमकी कोई गुंडा या लड़कियों का दलाल ही दे सकता है .टिप्पणीकार ने लिखा  -'कुतिया लिखना बंद कर वरना बाज़ार में जाकर बेच दूंगा .''इस टिप्पणीकार का IP ADD मैंने नोट कर लिया है .आवश्यक कार्यवाही हेतु  .जिसको मेरी पोस्ट पर एतराज हो वो सभ्यता की सीमा में रहकर टिप्पणी कर सकता है पर ऐसी टिप्पणी को एक स्त्री होकर यदि मैं बर्दाश्त करती हूँ तो समस्त स्त्री-जाति को अपमानित करती हूँ .''बाज़ार में बेच दूंगा '' -किस प्रकार  की मनोवृति का व्यक्ति  धमकी दे रहा  है .यदि ये बाबा रामदेव का समर्थक है तो असहमति प्रकट करे  पर इस टिप्पणीकार ने तो भारतीय  दंड  संहिता  की निम्न   धारा में ये अपराध कर डाला है -
''अनुराधा  बनाम महाराष्ट्र राज्य १९९१ क्रि.ला. j.410 [महाराष्ट्र ]में यह विनिश्चित किया गया की किसी महिला के प्रति धमकी भरी गलियां व् अपशब्दों का इस्तेमाल धारा ५०३ के अंतर्गत दंडनीय अपराध होगा जिसके  लिए धारा ५०६ में  २ साल के कारावास की सजा व् जुर्माने या दोनों  का प्रावधान है.''


इसके बाद मैंने अपनी सभी पोस्ट ''नवभारत टाइम्स ''से हटा ली हैं .क्या मेरा  निर्णय सही रहा ?
आपकी प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा में .
                                                  शिखा कौशिक 

13 टिप्‍पणियां:

सुनीता शानू ने कहा…

नही शिखा जी पोस्ट हटा लेना उचित नही है मेरी नज़र में। यही तो वो चाह्ता है (जो कोई भी है)वो समझेगा आप एक धमकी से डर गई हैं। आप मोडरेशन रखिये उसमें कोई टिप्पणी दे ही नही पायेगा। इससे बड़ी इंसल्ट क्या होगी कि पागल कुत्ते की तरह आये पोस्ट पढे मगर टिप्पणी प्रकाशित न हो।

शालिनी कौशिक ने कहा…

you have taken very right step.well done.प्रोन्नति में आरक्षण :सरकार झुकना छोड़े

शिखा कौशिक ने कहा…

thanks shalini ji for support .

शिखा कौशिक ने कहा…

आप sahi kah rahi हैं par sunita ji aisi gandi tippani main swayam bhi to nahi padh सकती hun .navbhart taaims par aise tippanikar हैं jo bina sir pair ki tippani karte rahte हैं ..यहाँ blogar par lagbhag sau pratishat achchhi व् shaleen tippani hi milti हैं .

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

aapka dil abhi jo kahe use hi kijiye ......

Rakesh Kumar ने कहा…

टिप्पणीकार की टिपण्णी से उसकी मानसिकता का पता चलता है.मोडरेशन से आपको सभी की मानसिकता का पता चलता रहेगा.बिना उत्तेजित हुए आप अपना काम करती रहिएगा.अच्छी टिप्पणियों से आपका उत्साह वर्धन भी होगा.

kanu..... ने कहा…

post mat hataiye par uske virruddh awashyak karyawahi jarur karie

शिखा कौशिक ने कहा…

THANKS NISHA JI ,RAKESH JI AND KANU JI TO SHARE YOUR YOUR VIEW OVER THIS ISSUE .

रजनी मल्होत्रा नैय्यर ने कहा…

sabhi ki ray se sahmat hun shikha ji aapne post hata kar apne nidrta ko dawadol karne wali baat kar di kyon koi tippni me anap snap likh jayega ? smajik buraai ko likhna har writer ka kaam hai .....aap moderation setting kar do, taki sabke tippniyon ko padhne k baad hi unhe publish karo . gandi mansikta wale bahut se lig milenge,par jis kaam me lage hain date rahiye tabhi sambhav hoga .apne safar ko aage aasani se le jana ....

आशा बिष्ट ने कहा…

lekin apni post hatana..sahi nahi hai
ye to seedhe-seedhe apni haar swikaar karne jaisa hai...

शिखा कौशिक ने कहा…

MAINE NAVBHARAT TIMES KE APNE BLOG SE SABHI POST ISLIYE HATAI HAIN KYONKI VAHAN PAR TIPPANIKAR JIS TARAH KI TIPPANI KAR RAHE HAIN USSE MERI MANSIK SHANTI BHANG HO RAHI HAI .MERE BLOGGER PAR VE SABHI POST JYON KI TYON HAIN .RAJNI JI V ASHA JI AAPNE SAHI RAY DI HAI PAR TIPPANI VASTAV ME ITNI GANDI KI JAA RAHI HAIN KI SWAYAM BHI PADHNA UCHIT NAHI LAGTA .

शिखा कौशिक ने कहा…

MAINE NAVBHARAT TIMES KE APNE BLOG SE SABHI POST ISLIYE HATAI HAIN KYONKI VAHAN PAR TIPPANIKAR JIS TARAH KI TIPPANI KAR RAHE HAIN USSE MERI MANSIK SHANTI BHANG HO RAHI HAI .MERE BLOGGER PAR VE SABHI POST JYON KI TYON HAIN .RAJNI JI V ASHA JI AAPNE SAHI RAY DI HAI PAR TIPPANI VASTAV ME ITNI GANDI KI JAA RAHI HAIN KI SWAYAM BHI PADHNA UCHIT NAHI LAGTA .

Rajesh Kumari ने कहा…

ऐसे टिप्पणीकार को तो शूट करने को दिल करता है बहुत गन्दी मानसिकता रखते हैं ऐसे शख्स आपको सभी उचित सलाह दे रहे हैं शिखा जी आप डरिये मत मोडरेटर का इस्तेमाल कीजिये किसी की हिम्मत नहीं होगी गलत लिखने की.all the best n congrats for this beautiful blog.