समर्थक

रविवार, 23 जून 2013

यहाँ भगत सिंह रंगवाते हैं चोला रंग बसंती !

 

जिस  हाथ तिरंगा है वो हाथ मुबारक है ![सर्वाधिकार सुरक्षित -do not copy ]
जिस  हाथ तिरंगा है वो हाथ मुबारक है !
जिन  लबों पे जन-गण-मन वे लब मुबारक हैं !
भारत माँ के चरणों में झुका शीश मुबारक है !
मेरे भारत में जन्मा हर शख्स मुबारक है !
*********************************

यहाँ गंगा जमुना सरस्वती का होता संगम पावन !
कुदरत की है छटा निराली देश मेरा मनभावन !
मंगलमय मेरा भारत कितना आकर्षक है !
मेरे भारत में जन्मा हर शख्स मुबारक है !
********************************

ये धरती वीर प्रसूता वीरों को जन्म है देती !
यहाँ भगत सिंह रंगवाते हैं चोला रंग बसंती !
जगत गुरु मेरा भारत जग का अधिनायक है !
मेरे भारत में जन्मा हर शख्स मुबारक है !
**********************************

हम कहकर 'वन्देमातरम' धरती को माता माने !
हम 'सत्यमेवजयते ' कह पापी को कुचल डालें !
सत्य-अहिंसा-प्रेम का भारत परिचायक है !
मेरे भारत में जन्मा हर शख्स मुबारक है !

जय हिन्द ! जय भारत !

शिखा कौशिक 'नूतन '

4 टिप्‍पणियां:

Rajesh Kumari ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार २५ /६ /१३ को चर्चा मंच में राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आपका वहां हार्दिक स्वागत है ।

Shalini Kaushik ने कहा…

बहुत सुन्दर भावों की अभिव्यक्ति आभार मोदी व् मीडिया -उत्तराखंड त्रासदी से भी बड़ी आपदा
आप भी जानें संपत्ति का अधिकार -४.नारी ब्लोगर्स के लिए एक नयी शुरुआत आप भी जुड़ें WOMAN ABOUT MAN

shikha kaushik ने कहा…

thanks rajesh ji

Madan Mohan Saxena ने कहा…

उत्क्रुस्त , भावपूर्ण एवं सार्थक अभिव्यक्ति .