समर्थक

सोमवार, 1 जुलाई 2013

नासमझ तेरी प्रेमिका भी किसी की है बहन !

नासमझ तेरी प्रेमिका भी किसी की है बहन !
सर्वाधिकार सुरक्षित
प्रेमिका के लिए तारे तोड़कर ला देता है ,
बहन को पाबंदियों के रस्सों से बांध देता है !
***********************************
प्रेमिका को बाइक पर सैर खूब कराता है ,
बहन को मर्यादा का पाठ यही पढाता है !
******************************
प्रेमिका संग मौज-मस्ती उसकी दीवानगी है ,
बहन का बाहर घूमना परिवार की शर्मिंदगी है !
********************************
प्रेमिका से वादा दे दूंगा तुझ पर जान ,
बहन को धमकी 'संभल जा' ले लूँगा तेरी जान !
*********************************
बहन की खुली सोच भाई को न सहन ,
पर नासमझ तेरी प्रेमिका भी किसी की है बहन !
************************************


शिखा कौशिक 'नूतन'

7 टिप्‍पणियां:

Shalini Kaushik ने कहा…

bilkul sahi .vah .

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा आज मंगलवार (02-07-2013) को "कैसे साथ चलोगे मेरे?" मंगलवारीय चर्चा---1294 में "मयंक का कोना" पर भी है!
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

rosy daruwala ने कहा…

sundar aur saral sandesh :-)

वाणी गीत ने कहा…

खरी- खरी !

kunwarji's ने कहा…

vaani ji ne sahi kaha hai.."khari-khari"

kunwar ji,

shikha kaushik ने कहा…

THANKS EVERYONE TO ENCOURAGE ME .

दिगम्बर नासवा ने कहा…

सच कहा है ... दोहरी मानसिकता से बाहर निकलना जरूरी है ...