समर्थक

सोमवार, 24 सितंबर 2012

उमा की लाडली

                              लाडली
        यह  सतरूपा, कुल कल्याणी ,जो विद्या से निखर जाए 
इसकी खुशबू के सम्मुख तो , जूही , चन्दन शर्माए     
बेटी दिवस ,बालिका दिवस ,डॉटर दिवस किसी भी नाम से पुकारिए बात एक ही है भारत के बहुत से क्षेत्रों में सितम्बर के चौथे रविवार में मनाया जाता है अर्थात इस साल २३ सितम्बर अथवा कल के दिन मनाया गया |मेरा मानना है की बेटी दिवस सिर्फ एक ही दिन क्यूँ हर दिन क्यों नहीं जब जब आप बेटी का मुस्कुराता हुआ चेहरा देखें वही पल बेटी दिवस हो ।
उमा की सदस्या श्रीमती कल्पना आत्रे और लाडली बेबी के साथ 
नीचे  राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा श्री मति सुशीला बलूनी जी के साथ 
बच्चियों के स्वास्थ की जांच करती हुई डाक्टर 

नवरात्रे आ रहे हैं घर घर में बेटी पूजा लक्ष्मी पूजा कन्या पूजा होगी समझ नहीं आता जहां धार्मिक ग्रंथों में भी और आज के समाज में भी नारी की पूजा होती है कन्या की पूजा होती है वही समाज कन्या भ्रूण हत्या ,दहेज़ प्रताड़ना /हत्या जैसा जघन्य अपराध कैसे कर सकता है कहाँ कमी है कौन सा सूत्र कमजोर है हमें वही ढूँढना है ---और ये काम बखूबी कर रही है "उमा  अर्थात उत्तराखंड महिला एसोसिएशन"सौभाग्य से मैं भी जुडी हूँ इस एसोसिएशन से |आज लाडली नाम से बालिका दिवस बड़ी धूम धाम से मनाया गया देहरादून की बहुत से स्कूल की बच्चियों ने रंगारंग कार्यक्रम में भाग लिया केवल रंगारंग कार्यक्रम ही नहीं आज के प्रोग्राम में एक दिन की बच्चियों से लेकर  छः साल की बच्चियों का हेल्थ चेक अप (फ्री) किया गया बेबी शो का आयोजन भी किया गया आज के चीफ गेस्ट उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री बहुगुणा जी और राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा श्री मति सुशीला बलूनी जी थी मुख्यमंत्री जी तेज बुखार  होने की वजह से उपस्थित नहीं हो पाए उनका खेद पात्र आ गया था प्रोग्राम पंजाब नेशनल बैंक के मनेजर द्वारा स्पोंसर  किया गया और उमा की अध्यक्षा श्रीमती साधना शर्मा जी के संयोजन में हुआ सफल हुआ |देखिये कुछ चित्र उस प्रोग्राम के ---
बच्चियों ने फेंसी ड्रेस में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया कोई इन्दिरा  गाँधी ,कोई कल्पना चावला ,कोई किरन बेदी ,सानिया मिर्जा आदि बन कर आई । नन्ही नन्ही बच्चियों और उनके मातापिता का उत्साह देखते ही बनता था ।बाद में सभी बच्चों को उपहार दिए गए ।
 बेबी शो और फेंसी ड्रेस के बच्चों को पुरस्कार दिए गए।देहरादून के मीडिया वाले भी सभी उपस्थित थे ।बाद में सुशीला जी का जबरदस्त वक्तव्य हुआ जिसका केंद बिंदु नारी सशक्तिकरण भ्रूण ह्त्या कन्या बचाओ पर आधारित था।अंत में चाय नाश्ते के बाद प्रोग्राम का समापन हुआ । 

7 टिप्‍पणियां:

Virendra Kumar Sharma ने कहा…

बधाई ,उमा की लाडली मन भाई .भगवान करे इस आयोजन के कुछ ज़मीनी नतीजे भी निकलें .कोमा में पड़ा समाज थोड़ा चेते .शिव शक्तियां हैं ये इन्हें न मारो .जतन से संवारो .निखारों हुनर इनका .गगन पे बिठा दो .
ram ram bhai
मुखपृष्ठ

मंगलवार, 25 सितम्बर 2012
दी इनविजिबिल सायलेंट किलर

सुशील ने कहा…

बेटी दिवस पर शुभकामनाऎं !

Dr.vandana singh ने कहा…

सामजिक चेतना और जागरूकता हेतु उत्तम और सार्थक प्रयास ...शुभकामनाएं एवं बधाई....

सदा ने कहा…

बधाई सहित शुभकामनाएं

ZEAL ने कहा…

Beautiful sharing...Best wishes.

शिखा कौशिक 'नूतन ' ने कहा…

great post with great message.thanks a lot .

Ruchi Jain ने कहा…

nice one..