समर्थक

शनिवार, 17 अक्तूबर 2015

''दुश्मनों को एक मौका दीजिये !''


Image result for free images of sword and flowers

दुश्मनों को अपने प्यारे एक मौका दीजिये !
ख्वाब उनका भी हो पूरा एक मौका दीजिये !
.......................................................
हाथ में खंज़र लिए जो क़त्ल करने आ गया ,
चूम कर खंज़र उसी का एक मौका दीजिये !
.......................................................
ज़िंदगी और मौत तो है ख़ुदा के हाथ में ,
दुश्मनों को दिल्लगी का एक मौका दीजिये !
.....................................................
दुश्मनी की आग लेकर जो झुलसते दिल में हैं ,
उनके दिल को ठंडकों का एक मौका दीजिये !
.........................................................
है नहीं 'नूतन' मुनासिब फिर भी हम ये कह रहे ,
दुश्मनों को दुश्मनी का एक मौका दीजिये !

शिखा कौशिक 'नूतन'

कोई टिप्पणी नहीं: